इलाज के अभाव में मासूम आदिवासी बच्चे की मौत, नहीं रूक रही सदर अस्पताल का गड़बड़झाला

गुमला: सदर अस्पताल एक फिर अपने कारगुजारी के कारण सुर्खियों में है. अस्पताल में तीन साल का  मासूम आदिवासी गरीब बच्चा इलाज के अभाव में दम तोड़ दिया. आपको बतादें कि इसी गुमला सदर अस्पताल में एक पखवाड़ा पूर्व अस्पताल में दवा नहीं मिलने से एक मासूम बच्चे की मौत हो गई थी, जिसके बाद मृतक बच्चे के पिता ने अपने बच्चे के शव को कंधे में रख कर अस्पताल से अपने घर चला गया था, जिसके बाद अस्पताल की पूरे प्रदेश में चर्चा हुई थी.

vlcsnap-2017-08-19-12h51m22s45   vlcsnap-2017-08-19-12h51m40s227 वहीं सदर अस्पताल में भर्ती एक कुपोषित बच्चे का सही  से इलाज नहीं कर नर्सों के द्वारा यह कहा गया कि बच्चे को अपने घर ले जाओ, जिसके बाद बीमार बच्चे को उसकी मां घर के लिए निकल पड़ी. बच्चे की मां  गरीबी के कारण पैदल ही घर जा रही थी लेकिन गुमला शहर से 10 किलोमीटर दूर जब टोटो पहुंची तभी उसके बच्चे की मौत हो गयी. बेटे की मौत हो जाने से महिला को रोते देख आस पास के लोग जमा हो गए और  महिला से पूछताछ किया तो उसने  सारी आपबीती  लोगों को बताई,

vlcsnap-2017-08-19-12h51m31s136 जिसके बाद लोगों ने चंदा इकठ्ठा कर उस महिला की मदद की और उसे घर भेजा. वहीं इस पूरे मामले को लेकर स्थानीय लोगों में काफ़ी आक्रोश है. वहीं अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि बच्चा गरीब परिवार से है इसलिए सभी प्रकार का जांच निःशुल्क की जा रही थी. लेकिन कब उसकी मां अस्पताल से उसे ले गयी ये पता नहीं चला. साथ ही उन्होंने कहा कि न तो डॉक्टरों ने उसे रेफर किया था और न ही डिस्चार्ज.

About

You may also like...

Your email will not be published. Name and Email fields are required