50 रूपये के अभाव में मासूम की मौत, क्या व्यापारी बन चुकी है झारखंड सरकार ?

Featured Video Play Icon

झारखंड सरकार को केवल पैसा चाहिये मानवता से उसे कोई सरोकार नहीं। सरकार एक ओर खुद शराब बेचकर लोगों को बिमारियों की सैगात दे रही है। वहीं राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में मानवता एक बार फिर शर्मशार होती हुई दिखायी दी है लेकिन सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंगती। रांची के रिम्स में गरीबी के कारण एक पिता को अपने पुत्र के जीवन से हाथ धोना पड़ा। महज 50 रूपये के लिये एक मासूम को अपनी जान गवानी पड़ी। रांची के धु्र्वा में रहनेवाले संतोष कुमार का एक वर्षीय मासूम श्याम का सीटी स्कैन केवल 50 रूपये के कारण नहीं हो सका। 50 रूपये के कारण झारखंड सरकार के रिम्स में मासूम का इलाज नहीं होने के कारण उसकी मौत हो गयी। 1350 रूपये के सिटी स्केन के लिये संतोष की पत्नी के पास 1300 रूपये ही थे। सरकार की ओर से इस तरह की व्यवस्था से यही लगता है कि झारखंड सरकार व्यापारी बन चुकी है और लोगों के कल्याण से उसका कोई सरोकार नहीं है। वहीं मृत बच्चे के परिजन से बात की हमारे सवांददाता अशोक कुमार ने……

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *